जुबान में ढूंढते हैं प्यार भरे शब्द-हिंदी शायरी


कहां जाकर दिल बहलायें
सभी जगह दर्द का दरिया बहता पायें
ढूंढते हैं कुछ हंसते हुए चेहरे
और खुश दिल
पर कोई जानता ही नहीं
कैसे जिंदगी को जिया जाता है
सभी को अपने दर्द सहता पायें
जुबानों में ढूंढते हैं अपने लिये प्यार भरे शब्द
पर लोग अपनी दौलत और शौहरत के
ढेर पर बैठकर इतरायें
जो हाल पूछो तो
अपनी तकलीफों का सागर दिखायें
कहीं खामोशी से बैठकर सोचते हैं
तब लगता है कि
भीड़ में कहीं चैन नहीं मिलता
अकेले में बैठकर कुछ गीत गुनगुनायें
लोगों के जिस्म हैं नासाज
दिल हैं टूटे हुए
उनसे भला क्या उम्मीद लगायें

…………………………………
यह आलेख इस ब्लाग ‘दीपक भारतदीप की सिंधु केसरी-पत्रिका ’ पर मूल रूप से लिखा गया है। इसके अन्य कहीं भी प्रकाशन की अनुमति नहीं है।
अन्य ब्लाग
1.दीपक भारतदीप की शब्द पत्रिका
2.दीपक भारतदीप का चिंतन
3.दीपक भारतदीप की शब्दयोग-पत्रिकालेखक संपादक-दीपक भारतदीप

Post a comment or leave a trackback: Trackback URL.

टिप्पणियाँ

  • anand  On 21/10/2010 at 3:05 अपराह्न

    hi

  • anand  On 21/10/2010 at 3:08 अपराह्न

    dur sahi majbur sahi yaad aapki aati hai aap naam wanha le hai or aawaj yanha tak aati hai.

  • RAKESH JANGIR  On 31/12/2010 at 3:30 अपराह्न

    naya saal aaye banke ujala,khul jaye aap ki kismat ka tala,hmesh aap pe rahe meherban uparwala. HAPPY NEW-YEAR!

  • gudiya  On 07/02/2011 at 11:06 पूर्वाह्न

    कहां जाकर दिल बहलायें
    सभी जगह दर्द का दरिया बहता पायें
    ढूंढते हैं कुछ हंसते हुए चेहरे
    और खुश दिल
    पर कोई जानता ही नहीं
    कैसे जिंदगी को जिया जाता है
    सभी को अपने दर्द सहता पायें
    जुबानों में ढूंढते हैं अपने लिये प्यार भरे शब्द
    पर लोग अपनी दौलत और शौहरत के
    ढेर पर बैठकर इतरायें
    जो हाल पूछो तो
    अपनी तकलीफों का सागर दिखायें
    कहीं खामोशी से बैठकर सोचते हैं
    तब लगता है कि
    भीड़ में कहीं चैन नहीं मिलता
    अकेले में बैठकर कुछ गीत गुनगुनायें
    लोगों के जिस्म हैं नासाज
    दिल हैं टूटे हुए
    उनसे भला क्या उम्मीद लगायें

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: